Monday, 17 October 2011

कुछ सवाल : आप दीजिये जवाब (Some Questions for All Bloggers)

दिनाँक - 10 सितंबर 2011

ब्लॉग का नाम - हिन्दी ब्लौगर्स फोरम इंटरनेशनल 

विषय - हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड 

कड़ी - 33

उप विषय - साझा ब्लॉग कैसे बनाएँ ?

पोस्ट पाठक संख्या - 13 

टिप्पणी या प्रतिक्रिया - 0 (शून्य)

              और

लेखक - महेश बारमाटे "माही"


जी हाँ !
मैं वही महेश बारमाटे हूँ, जिसे शायद आप लोग "माही" के नाम से जानते हैं, और हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को अगर अनवर जमाल जी के नाम से जाना जाता है, तो कहीं न कहीं मेरा ज़िक्र भी आपके जेहन मे जरूर आता होगा, ऐसा मेरा मानना है। 
आज मैं हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के प्रचार के सिलसिले में खुद को श्रेय दिलवाने के लिए नहीं वरन आप सबसे कुछ  सवाल पूछने आया हूँ।  (बल्कि मेरा विचार ऐसा कभी नहीं रहा कि हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लिए मुझे कोई श्रेय मिले, क्योंकि यह मेरी किताब नहीं है, यह हर ब्लॉगर की किताब है)

मैंने जब हिन्दी ब्लॉगिंग जगत में कदम रखा था तो आपकी ही तरह ब्लॉगिंग के नियमों, लेखन की सीमाओं और तकनीकी ज्ञान से अनभिज्ञ था। मुझे तो बस इतना पता था कि कुछ तो ऐसा किया जाये, जो इतिहास के पन्नों मे न सही पर किसी न किसी के तो दिल को कम से कम एक बार छू जाये। और इसी प्रयास में मैंने अपनी कविताओं से ब्लॉगिंग की शुरुआत की, समय गुजरता गया और काफी कुछ मैं सीखता चला गया। और तब सोचा कि जिस तरह मैं जब नया था तो मुझे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा था तो इस देश में लाखों करोड़ों ऐसे लोग होंगे जो लिखना तो जानते हैं, और अपनी बात लोगों तक पहुंचाना भी चाहते हैं पर ब्लॉगिंग की जानकारी के अभाव में बस खुद तक या अपने दोस्तों तक ही सीमित रह जाते हैं। तो फिर क्यों न ऐसे लोगों को ब्लॉगिंग सिखायी जाये। और इस हेतु मैंने कुछ लेख लिखे जिससे डॉ० अनवर जमाल खान जी सहमत हुये और उन्होने मुझे हिन्दी ब्लॉगिंग के उस ऐतिहासिक कदम का न केवल हिस्सा बनाया बल्कि इस कदम का आगाज करने को भी मुझे ही कहा जिसे आज आप लोग हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के नाम से जानते हैं। 
आज मैं अनवर जी का बहुत आभारी हूँ जो उन्होने मुझे इस मुकाम तक पहुँचने में मदद की जहाँ मैं अपनी सोच को साकार होता देख रहा हूँ। 
पर मैं जानना चाहता हूँ कि 

  • आखिर मेरी ऐसी क्या खता थी, क्या गलती थी जिसकी मुझे सजा मिली ?
  • आखिर क्या कोई नहीं चाहता कि नए ब्लॉगर अपना खुद का साझा ब्लॉग बना सकें? 
  • क्या मेरी पोस्ट में ऐसा कुछ मैंने लिखा था जो "Not For Bloggers" था ?
  • क्यों मेरी पोस्ट को 13 लोगों ने देख के भी अनदेखा कर दिया? 
  • क्या पूरे ब्लॉग जगत मे बस 13 ब्लॉगर ही हैं, जो हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड से संबन्धित लेख पढ़ना पसंद करते है ? 
  • और क्यों बाकी लोगों ने इसे देखना भी न चाहा ?
  • अगर ऐसा था तो आप लोग मेरी पोस्ट पे आए ही क्यों ? कम से कम दिल को तसल्ली तो होती कि जब किसी ने देखा ही नहीं, तो उस पे प्रतिक्रिया मिलना तो उस सोच से भी परे है जिसके पार एक कवि भी नहीं जा सकता। 

आज मैं आप सभी से अपने इन सवालों का जवाब चाहता हूँ कि मेरी पोस्ट को नकारा क्यों गया ?

मैं कोई ऐसा ब्लॉगर भी नहीं हूँ जिसे नकारा जा सके, अगर ऐसा होता तो मेरी कविताओं पे आपकी तालियों की गूंज दिखाई न देती, मेरे लेखों पे, मेरे नए प्रयासों पे आप लोगों की सहमति, आप लोगों की शाबासी भी न मिलती मुझको। 

आज मुझे आपका जवाब चाहिए ही चाहिए... 

क्या ? आप चाहते हैं कि मेरा वो लेख फिर से पढ़ के देखने के बाद ही आप मुझे जवाब देंगे ?
तो फिर ठीक है... 

ये लीजिये लिंक - 


फिर मत कहना कि मैंने लिंक भी नहीं दिया और बहुत कुछ बुरा - भला सुना दिया आप लोगों को... 

नोट - आप सभी से अनुरोध है कि आपके मन में आए जवाब हिन्दी ब्लॉगिंग की गरिमा का ध्यान रखते हुये ही मुझे दें, बेनामी जवाब दे के अपनी पहचान छुपाना एक गरिमामय ब्लॉगर के लक्षण नहीं हैं... 

धन्यवाद ! 


आपके जवाबों के इंतज़ार में... 

- महेश बारमाटे "माही"

Tuesday, 11 October 2011

क्या कहूँ... ?




अचानक ही पता चला कि ऐसा भी कुछ हुआ है, 
के अब वो ही न रहा जिसकी आवाज ने मेरे दिल को हर वक्त छूआ  है... 

जगजीत सिंह जी को बहुत बहुत श्रद्धांजली !

जन्म - 8 फरवरी 1941
मृत्यु - 10 अक्टूबर 2011

- महेश बारमाटे "माही"

Tuesday, 4 October 2011

लड़कियों सावधान: कहीं कोई आपको देख तो नहीं रहा... How to Detect Hidden Camera in Trial Room?


दोस्तों !

आज मुझे किन्ही राजीव जी का एक ईमेल आया, जिसमे बहुत अच्छी जानकारी दी हुई थी, सोचा कि आप सभी लोग भी इसे जाने तो बहुत अच्छा होगा. यह ईमेल इंग्लिश में था जिसे मैं यहाँ अपने हिसाब से अनुवाद कर के पेश कर रहा हूँ. 

यह ईमेल ख़ास तौर पे लड़कियों के लिए है क्योंकि अक्सर जब भी हम कपड़े लेने जाते हैं तो अपनी पसंद की ड्रेस को पहन के देखते हैं कि आखिर जो ड्रेस दिखने में सुन्दर है वो सच में हम पर भी खूबसूरत लगेगी या नहीं और उसका नाप वगैरह ठीक है या नहीं. पर हमारी इसी सोच का गलत फायदा अक्सर दुकान मालिक उठा लेता है और चोरी से आपका विडियो बना लेता है. इसके लिए कुछ उपाय हैं जिन्हें जान लेने के बाद आप जब भी किसी दुकान के ट्रायल रूम में अपने कपड़े बदलने जाएँ तो चौकन्ना रहें और खुद को ऐसे गिरोहों से बचा सकें जो आपका विडियो बना के इन्टरनेट पे न डाल सकें या आपको ब्लैक मेल न कर सकें. 

आखिर जागरूक होना जानकार होने से ज्यादा बेहतर होता है. 

आइये जानते हैं कि - 

ट्रायल रूम में छुपे हुए (hidden) कैमरे का कैसे पता लगाएं ?

ट्रायल रूम (या ड्रेसिंग रूम) में जब भी आप घुसें तो सबसे पहले अपने मोबाइल से एक कॉल लगाने की कोशिश करें, अगर कोई hidden camera उस रूम में होगा तो आपका कॉल नहीं लग पायेगा. ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि जो hidden camera उसे किया जाता है वो fiber optic cable से संचालित होता है जो मोबाइल communication को बाधित करता है.

आज कल एक नए तरह का कैमरा भी उपयोग में लाया जा रहा है जिस का नाम pinhole camera है ये इतने छोटे होते हैं कि कहीं भी आसानी से लगाये जा सकते हैं. 

2-WAY MIRROR : 

एक ऐसा आइना जिसकी एक ओर से आप अपना प्रतिबिम्ब देख सकते हैं और दूसरी ओर से कोई दूसरा आपको देख सकता है.

जी हाँ ! जब भी आप किसी सार्वजनिक प्रसाधन (toilet), स्नान गृह (bathroom), होटल रूम, ड्रेसिंग रूम इत्यादि में जाती हैं तो ये हो सकता है कि जिस आईने के सामने आप कपड़े बदल रही हों उसकी दूसरी ओर से कोई आपको देख रहा हो. पर आप नहीं देख सकती कि कौन है जो आपको देखे रहा है क्योंकि यह आइना कुछ इस तरह का ही बनाया जाता है कि किसी के लिए ये महज एक आइना होता है तो किसी के लिए साधारण कांच. 

अब आप सोच रही होंगी कि आप कैसे जानेंगी कि आपके सामने लगा आइना साधारण आइना है या कुछ और ?

तो इसके लिए भी निश्चिन्त हो जाइये, क्योंकि इसका भी एक उपाय है. 

जब भी आप ऐसे किसी रूम में जाएँ जहां आप कपड़े चेंज करने वाली हों तो पहले आईने की सतह पे अपना नाख़ून रख के देखें, अगर आईने में आपके नाख़ून का प्रतिबिम्ब आपके नाख़ून से थोड़ी सी दूरी पे हो तो वह आइना बिलकुल साधारण है जिसमे कोई खतरा नहीं है. पर अगर आपका नाख़ून और उसका प्रतिबिम्ब एक दूसरे को touch करे तो समझ जाइये कि वह 2 - way mirror है, और कोई आपको देखने के लिए जरूर आईने के पीछे बैठा होगा. 

सतर्क हो जाइये और इस जानकारी को आप अपने दोस्तों, बहनों, बेटी, पत्नी और साथ में उन लड़कों को भी बताएं जिनकी महिला मित्र (गर्ल फ्रेंड) या बहने इत्यादि हों. 


और जानकारी के लिए इस पेज पे जाएँ आपको hidden camera के बारे में और भी कई जानकारियाँ प्राप्त होंगी - 




- महेश बारमाटे "माही"

Monday, 19 September 2011

हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 7) (Hindi Blogging Guide - part 7)

नमस्कार दोस्तों !


कैसे हो आप सभी ? आशा है कि आप सभी सकुशल होंगे।

आज बहुत दिनों बाद फुर्सत है मिली, क्या करूँ, नयी नयी नौकरी मे फुर्सत ही कहाँ ? 
फिर भी ब्लॉगिंग की ललक और आप सभी का प्यार खींच लाया है मुझे एक बार फिर यहाँ। 

इसीलिए...
लो आज फिर आ गया मैं हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड की जानकारियाँ लेकर, पर सबसे पहले एक बात आपको बताना चाहूँगा। यह केवल एक बात एक सूचना या एक जानकारी ही नहीं बल्कि एक अनुरोध भी है। अतः कृपया आप सभी ध्यान से पढ़ें और अगर मैं कहीं गलती कर रहा हूँ तो मुझे मेरी गलती बताने का कष्ट करें। 

Friday, 9 September 2011

साझा ब्लॉग कैसे बनाएं ?

दोस्तों ! अब तक तो आप साझा ब्लॉग की महिमा को जान ही चुके होंगे, तो क्यों न अब अपना खुद का कोई साझा ब्लॉग बनाया जाये ? जैसा कि हमने आपको बताया कि साझा ब्लॉग हर ब्लॉगर अपने नज़रिए से बनाता है, तो पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आप किस विशेष उद्देश्य के लिए साझा ब्लॉग बनाना चाहते हैं ? अब नीचे दिए जा रहे स्टेप्स को ध्यान पूर्वक पढ़ें और उनके अनुसार जुट जाइए अपना स्वयं का पहला साझा ब्लॉग बनाने में...

  1. सबसे पहले अपने ब्लॉगर अकाउंट पे लॉगिन करें.

clip_image002

  1. अब एक नया ब्लॉग बनाएं (अगर आप अपने व्यक्तिगत ब्लॉग को साझा ब्लॉग में तब्दील न करना चाहें तो).
  2. अब अपने डैशबोर्ड पे अपने नए व्यक्तिगत ब्लॉग की सैटिंग पर क्लिक करें.

clip_image004

  1. सैटिंग पे क्लिक करते ही बेसिक सैटिंग पेज खुल जायेगा. जिस पे बिलकुल दायीं तरफ "Permissions" नाम के लिंक पर क्लिक करें.

clip_image006

  1. अब Add Authors बटन पर क्लिक करें.

clip_image008

  1. अब एक नया टेक्स्ट बॉक्स "Invite more people to write to your blog" के नीचे दिखाई देगा. इस टेक्स्ट बॉक्स में आप जिन जिन ब्लॉगर सदस्यों को अपने साझा ब्लॉग में शामिल करना चाहें उनके ईमेल एड्रेस लिखें. एक से ज्यादा ईमेल एड्रेस होने पर सभी ईमेल को अल्पविराम (या Comma ",") के द्वारा पृथक करते जाएँ.
  2. अब Invite बटन पर क्लिक करें.

clip_image010

ये लीजिये आपका साझा ब्लॉग तैयार हो गया. जैसे ही आप Invite बटन पर क्लिक करेंगे ब्लॉगर.कॉम एक ईमेल, सम्बंधित सदस्य को भेजेगा. जिसमे दिए गए लिंक को क्लिक करने के बाद वह व्यक्ति सीधे ब्लॉगर.कॉम के लॉगिन पेज पे पहुँच जायेगा जिसमे उसे अपने जीमेल अकाउंट से लॉगिन करना होगा ताकि वो आप के आमत्रण को स्वीकार कर सके. आमंत्रण स्वीकार करने के बाद वह ब्लॉगर (या व्यक्ति) आपके साझा ब्लॉग का सदस्य बन जाएगा और आपको उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस तथा नाम इसी Permission पेज पर दिखाई देने लगेगा.

clip_image012

अगर आमंत्रित व्यक्ति का पहले से ब्लॉगर.कॉम पर कोई अकाउंट नहीं है तो उसे अपने जीमेल अकाउंट का उपयोग करते हुए बस अपना display name (ब्लॉग में दिखने वाला नाम) डाल कर साइन अप करना होगा और फिर वह व्यक्ति आपके साझा ब्लॉग का सदस्य बन जायेगा.

clip_image014

साझा ब्लॉग से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य :

  • अब अगर आप चाहें तो किसी सदस्य की सदस्यता समाप्त भी कर सकते हैं, उसके लिए आपको बस permission पेज पर उक्त ब्लॉगर के नाम के सामने लिखे "Remove" लिंक पर क्लिक करना होगा.

clip_image015

  • अगर आपका साझा ब्लॉग का उद्देश्य ऐसा हो जहाँ आपको लेखकों के अलावा ब्लॉग के देख-रेख के लिए एक नियंत्रण समिति का होना जरूरी है तो आप किसी भी सदस्य को एडमिन पॉवर दे सकते हैं. परन्तु ध्यान रहे कि एडमिन पॉवर देने के बाद उक्त सदस्य का भी आपकी ही तरह ब्लॉग पे पूरा नियंत्रण हो जायेगा और अगर वो चाहे तो आपकी ही तरह सारे ब्लॉग को डिलीट कर सकता है यहाँ तक कि वह आपसे आपका एडमिन पॉवर भी छीन सकता है. अतः आपको पूरी सावधानी बरतते हुए ही किसी को एडमिन पॉवर देनी चाहिए.

एडमिन पॉवर व्यवस्था बनाए रखने के लिए होती है। अगर संयोजक ख़ुद ही ज़्यादातर इंटरनेट पर रहता है और वह तकनीकी महारत भी रखता है तो बेहतर है कि वही इसकी देखरेख और सजावट करे और अगर वह ऐसा नहीं कर सकता तो फिर जो समय दे सकता है, उसे एडमिन पॉवर दे दें ताकि अनापेक्षित कमेंट आदि हटाये जा सकें। ऐसा मेरा मानना है।

- डॉ. अनवर जमाल खान

  • किसी सदस्य को एडमिन पॉवर देने से पहले उस व्यक्ति से आपको ईमेल के जरिये अनुमति ले लेना चाहिए कि क्या वे इस पद भार के लिए तैयार हैं ?
  • अगर सामने वाले की अनुमति है तो उसे पहले कुछ नियम व शर्तों से अवगत कराएँ, जैसे कि -

1. आप बिना नियंत्रण मंडल की अनुमति के इस साझा ब्लॉग पर एकाधिकार नहीं कर सकते.

2. किसी ब्लॉगर की सदस्यता समाप्त करने के लिए आपको पहले उस ब्लॉगर को चेतावनी देनी होगी, और अगर वह ब्लॉगर फिर भी आपकी बात नहीं मानता तब आप नियंत्रण मंडल की सहमति से उस ब्लॉगर को एक और चेतावनी दे के अपने ब्लॉग से बहार कर सकते हैं

3. और जानकारी के लिए कृपया इस लिंक पर जाएँ –

http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2011/03/blog-tips.html

शीर्षक - साझा ब्लॉग आपकी जागीर नहीं, लेखक -  एस. एम. मासूम.

  • इस तरह के कुछ नियमो के बाद आप एडमिन पॉवर उक्त ब्लॉगर को प्रदान करने के लिए निम्न तरीका अपनाएँ -

Login → Settings → Permissions → Grant admin privileges

clip_image017

→ और फिर एक चेतावनी ब्लॉगर.कॉम की ओर से आपके समक्ष आयेगी, तब आप GRANT ADMIN PRIVILEGES बटन पर क्लिक करें.

clip_image018

  • एडमिन  पॉवर देने का मतलब ये नहीं कि आपने सामने वाले को अपना जीमेल अकाउंट या व्यक्तिगत ब्लॉग चलाने की अनुमति दे दी है. एडमिन पॉवर मिल जाने के बाद उक्त ब्लॉगर केवल उसी साझा ब्लॉग को पूरी स्वतंत्रता से इस्तेमाल कर सकता है जिसके लिए उसे एडमिन पॉवर मिली है. वो आपके और किसी व्यक्तिगत या साझा ब्लॉग को कुछ नहीं कर सकता.

तो क्या सोच रहे हैं आप ?

आज क्या नया करने जा रहे हैं ? एक साझा ब्लॉग या और कुछ ?

महेश बारमाटे "माही"

साभार – Blog Tutorial : Create a Blog with Multiple Authors

http://www.howtoinblogger.com/blogger-tutorials/create-a-blog-with-multiple-authors

Wednesday, 24 August 2011

एक सलाह : Email Spamming से बचें...

दोस्तों !
आज अपना ईमेल चेक करते वक्त जब स्पैम फ़ोल्डर पे नज़र गई तो देखा कि इसमे 11 स्पैम ईमेल आए हुये हैं। 
और फिर सोचा कि कहीं कोई जरूरी ईमेल स्पैम में न चला गया हो इसीलिए स्पैम फ़ोल्डर को चेक करने लगा। तभी देखा एक ईमेल जीमेल टीम के नाम से आया है जिसमे लिखा है कि जीमेल मे तकनीकी खराबी के कारण आपका ईमेल अकाउंट बंद किया जा रहा है, अपने ईमेल अकाउंट को अगर आप बचाना चाहते हैं तो दिये गए लिंक पे क्लिक करें। साथ मे लिखा है कि उक्त लिंक को क्लिक करने पर वह कार्य नहीं करेगा, तो हमें अपना ईमेल व पासवर्ड भेजें ताकि हम खुद आपका ईमेल री - एक्टिवेट कर सकें। 
यकीन नहीं आ रहा हो तो आप उनका लिखा ईमेल खुद देख लें। 
Due to an error in Gmail,there will be termination of inactiveaccounts.Please confirm that your Gmail account is active by clickingthis confirmation link
mail.google.com/mail/f-45ae2d2b50-mail-noreply%40gmail.com-i06-S4Dm_i8OgonUP3MekMQdsWo

If you click the confirmation link and it redirects you to a page thatshows you a message that there was something wrong with the link youfollowed to get there,You might try copying the entire link andpasting it into your browser's address bar.If that doesn't work,pleasefill the form below to enable us manually enter your confirmationcode.We apologize for the inconvenience.

Gmail username:                                ----------------
Gmail password:                                ----------------

Failure to confirm your account before the end of the month,willresult in a permanent closure of your Gmail account.

Thanks for using Gmail!
Sincerely,
The Gmail Team
ये सब पढ़ने के बाद बहुत हंसी आई कि ये कैसे बेवकूफ लोग हैं जो मुझको ऐसे ईमेल भेज रहे हैं, जिनका मैं कभी रिप्लाइ ही नहीं करता। क्या इन लोगो ने मुझे भी अपनी तरह बेवकूफ समझ रखा है ? 
पर फिर खयाल आया कि शायद ऐसा ही कोई ईमेल आपको भी भेजा हो और आपमे से किसी ने उनको अपना ईमेल या पासवर्ड भेज भी दिया हो ? 

मैं आपको आगाह करना चाहता हूँ कि कृपया ऐसे किसी भी ईमेल का जवाब न दें, ये आपके ईमेल का दुरुपयोग करने के लिए ही भेजा गया है, क्योंकि कोई भी ईमेल कंपनी ऐसे कभी भी आपसे आपके ईमेल का पासवर्ड नहीं मांगती। कृपया ऐसे किसी भी ईमेल का जवाब न दें वरना बेवजह ही आपका कम्प्युटर वाइरस के चपेट मे आ सकता है, या आपका कम्प्युटर हैक हो सकता है और तो और आप देश द्रोही भी बनाए जा सकते हो, इसीलिए मेरी सलाह पे ध्यान जरूर दें और अपने जान - पहचान के लोगों को भी ये सलाह दें। 

मेरे पास एक ऐसा ही उदाहरण है जिसमे एक छात्र के साथ धोखाधड़ी हुई थी। हुआ ये था कि इंजीनीयरिंग के एड्मिशन के पहले जो यूनिवरसिटि मे रजिस्ट्रेशन होता है उसका यूजर आईडी व पासवर्ड उसने एक कॉलेज के अधिकारियों को दे दिया था, जिससे कि उसका उसकी मर्जी के बिना ही उस कॉलेज मे एड्मिशन हो गया था, हालांकि बाद मे शिकायत करने के बाद उसे नया यूजर आईडी व पासवर्ड मिल गया था। और साथ ही साथ एक सबक भी मिला उसे, कि किसी को भी यूं ही अपना ईमेल व पासवर्ड नहीं बताना चाहिए... 

आशा है कि आप सभी को मेरी बात समझ आयी होगी...

आपका 
इंजी० महेश बारमाटे "माही" 

Sunday, 21 August 2011

हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 6)

हैलो ! कैसे हैं आप लोग ?
बहुत दिनों बाद मिल रहे हैं हम लोग, है न ?
क्या करूँ, आज कल थोड़ा सा व्यस्त सा हो गया हूँ। 
चलो आज मैं आपको अपनी व्यस्तता का कारण बता ही देता हूँ।  अपनी पिछली एक पोस्ट में मैं आपको बोला था कि दो दो खुशखबरियाँ हैं, जिसमे से एक खुशखबरी मैंने आपको बता दी थी कि फेसबुक पे "हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड" के पेज को 30 से ज्यादा प्रसंशक मिलने की वजह से उसका अपना फेसबुक यूजर आई डी मिल गया है। और दूसरी बात ये थी कि मेरी नौकरी लग गई है। चूंकि यह नौकरी मुझे पसंद नहीं है पर फिलहाल के लिए काफी है, क्योंकि कुछ नहीं तो ये तो एक पार्टी करने, खुशियों को बांटने का नया बहाना ही है मेरे लिए। अब आप कहेंगे कि नौकरी लाग्ने के बाद भी मैं ऐसा कह रहा हूँ। अजी जनाब ! मेरा उद्देश्य है कि मैं एक इंजीनियर का जॉब पाऊँ, और मुझे मिला है जॉब एक नॉन - टेक्निकल जॉब। म०प्र० राज्य कृषि विपणन बोर्ड में सहायक उप निरीक्षक का पद पा के खुशी तो मिली पर उतनी नहीं जितनी मिलना चाहिए थी। फिर भी आज मैं यह खुशी आप लोगों से बाँट के इसे थोड़ा और बढ़ाना चाहता हूँ। 
तो क्या आप मेरी इस खुशी मे मेरा साथ देंगे ? 
बेशक देंगे... है न ?

वैसे इस खुशी ने मुझे एक और निराशा दी है कि मुझे ब्लॉग जगत से दूर कर दिया है। फिर भी एक ब्लॉगर होने के नाते आज फिर आया हूँ आपके समक्ष "हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड" के चर्चे लिए हुये। 

चर्चा शुरू करने से पहले मैं श्री अण्णा हज़ारे जी के समर्थन में बस इतना कहना चाहूँगा कि देश के दुश्मन देश में ही हैं, भ्रष्टाचार खत्म करना मुश्किल तो है पर बदलाव की आँधी शुरू हो चुकी है, अब तो बस देखना है कि ये निकम्मे नेताओं की दीवार कब तलाक इस आँधी के सामने खड़ी रहती है। और एक बात और चाहे जनलोकपाल बिल पारित हो या न हो, हमारी आम जनता को जागरूक करना इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण है। अण्णा जी आप का बहुत बहुत शुक्रिया जो आपने ये पहल की। और मेरे सारे ब्लॉग जगत के दोस्तों आपसे अनुरोध है कि देश को जागरूक करने में योगदान जरूर दें। 

चलिये अब हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड की चर्चा शुरू की जाये... 

आज की चर्चा में पहला नाम जनाब सलीम खान जी का आता है। लखनऊ ब्लौगर्स असोसियेशन (LBA) के संस्थापक, इस्लाम तथा हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित सलीम जी को आज कौन नहीं जानता ? यूं तो आज सारा जगत उन्हे व उनके कार्यों से भली भांति परिचित है फिर भी उनके बारे मे बस इतना कहना चाहूँगा कि उन्होने अपनी ज़िंदगी के हर मुकाम मे सफलता पायी है, चाहे ब्लॉग जगत मे लोकप्रियता पाना हो या और कुछ... 2009 से उन्होने ब्लॉग जगत मे अपना नाम दर्ज करवाया, और आज देखो वे इस ब्लॉग जगत के नामी लोगों मे गिने जाते हैं, बहुत कम समय मे उन्होने जो सफलता पायी वह बहुत ही काबिले-तारीफ है।
अब जब हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड की चर्चा की हवा चली तो आखिर वे इस हवा मे सांस न लें ये कैसे हो सकता है भला? आखिर इतना बड़ा ब्लॉगर और हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लिए एक भी लेख न लिखे, हो ही नहीं सकता। और इसी कारण उन्होने अपने ब्लॉग जगत के जीवन मे मिले अनुभवों के आधार पे आप सभी को ब्लॉग बनाने से संबन्धित कुछ सुझाव दे रहे हैं। उन्होने अपने लेख को एक प्रश्नोत्तरी के रूप में ढाल के अपने सुदृढ़ लेखन का परिचय दिया है।  उनके इस लेख मे आप पाएंगे कि कुछ बहुत छोटे - छोटे मगर मोटे सवाल जो अक्सर एक नवोदित ब्लॉगर के मन में घूमते रहते हैं, उनका निदान कितने सहजता व सरलता से सलीम जी ने किया है। 
उनके लेख के मुख्य बिन्दु हैं - 
  • ब्‍लॉगर की डिज़ाइन विशेषता 
  • साझा ब्लॉग की जानकारी 
  • पोस्ट पे लेबल कैसे लगाएँ ?
  • AdSense, साइट फीड, ब्लॉगर मोबाइल  इत्यादि की जानकारी 
  • ब्लॉगर की - बोर्ड शॉर्टकट 
  • और भी बहुत कुछ... 
उनके इस लेख को आप जरूर पढ़ें - 

चलिये अब चर्चा को अगले चरण में ले जाया जाये... 
आज की अगले चर्चा मे नाम आता है जनाब एस० एम० मासूम जी का। 
अमन पैगाम, जौनपुर ब्लॉगर असोसिएशन, चिट्ठाजगत.इन्फो या ब्लॉग संसार जैसी अनेक ब्लॉग व वेबसाइटों के संस्थापक, जनाब एस० एम० मासूम जी को आज कौन नहीं जानता  ? अजी उनकी ख्याति तो आज सारे हिंदुस्तान मे फूलों की महक की तरह फैल रही है, और दुआ है कि इसी तरह हमेशा यह ख्याति फैलती ही जाये... 

हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लिए मासूम जी ने कई लेख लिखे हैं, जैसे कि 
"शक व इल्ज़ाम से बचें नए ब्लॉगर" तथा "ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या है ?"

अपने पहले लेख "शक व इल्ज़ाम से बचें नए ब्लॉगर" में वे अपना निजी अनुभव देके यह बता रहे हैं कि किस तरह एक आम ब्लॉगर किसी दूसरे की मदद करके बेवजह ही खुद को शक व इल्ज़ाम के घेरे मे डाल लेता है। यह उनके जीवन का एक कडुआ अनुभव था, पर उन्होने अपने इसी लेख मे एक कमेंट मे कहा है कि "ऐसे बातों को भूलना बेहतर है, और हाँ अगर ऐसी बातें जो आपके जीवन के कडवे अनुभव की याद दिलाएँ उन्हे सकारात्मक सोच के बिना भुलाया भी नहीं जा सकता।
उनकी लिखी बातों को ध्यान से पढ़ें व याद रखें ताकि आप भी शक व इल्ज़ाम से बच सकें... और हमेशा सकारात्मक सोच को बनाए रखें। 
उनके इस लेख को पढ़ने के लिए क्लिक करें - 

अपने अगले लेख - "ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या है ?" में वे बताते हैं कि ब्लॉगिंग एक ऐसा विषय है जिस पर एक पूरी किताब लिखी जा सकती है, फिर भए उन्होने हमारे साथ वही बातें साझा करना ज्यादा जरूरी समझा जो एक ब्लॉगर के हित मे हैं, जैसे कि 
  • ब्लॉगर प्लैटफ़ार्म 
  • अपने ब्लॉग को लोगों तक कैसे पहुंचाएं ?
उनके द्वारा दी गयी इस जानकारी को काफी लोगों ने सराहा है, कृपया आप भी उनके लेख को पढ़ के लाभ उठाएँ - 


आज बस इतना ही...
आशा है कि आपको मेरी जानकारी बहुत पसंद आई होगी और मेरे अगले लेख का इंतज़ार करते रहेंगे आप... है न ?

इसी उम्मीद के साथ मुझे इजाजत दें...
हिन्दी ब्लॉगिंग के सार्थक भविष्य के लिए हमेशा तत्पर 

ईं० महेश बारमाटे "माही"

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए हमें आपकी प्रोत्साहन की जरूरत है, कृपया इसे जन जन तक पहुँचाने में हमारी मदद करें... 


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
मेरे अगले लेख में आप पाएंगे - 
  • ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित अच्छी वेबसाइटें 
  • ब्लॉग एग्रीगेटर 
  • ब्लॉग व ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित और भी जानकारियाँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

चलते चलते मेरे पिछले लेख पे भी नज़र डालें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_04.html


हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय - भाग २
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_06.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से सम्बंधित लेख : मेरी नज़र में (भाग एक)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_09.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 2)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 3)

http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 4)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/4.html



हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 5)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/08/5.html




----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

अगर आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के हर पल से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमसे संपर्क करें... 
  • हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की हर पल की कहानी अपने ईमेल पे जानने के लिए सबस्क्राइब करें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के गूगल ग्रुप को -
Subscribe to हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड (Hindi Blogging Guide) Google Group 

Email: 

बस अपना ईमेल ऊपर दिए गए स्थान पे डालें और Subscribe बटन पे क्लिक करें...
  • फेसबुक पे हमसे जुड़ें - 


ईं० महेश बारमाटे "माही"

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


आइये गौतम बुद्ध को जानें - 

Friday, 5 August 2011

कृपया ध्यान दें॥ (Attention Please)


नमस्कार !

मैं इंजी० महेश बारमाटे "माही", आपका अपने ब्लॉग "कुछ दिल से..." में आने का शुक्रिया अदा करता हूँ... आप आए और आपने हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड को मेरी नज़र से जाना...
ख़ुशी हुई कि आपने मेरा उत्साह और भी बढाया. एक समय था जब मेरे पास टाइम ही टाइम हुआ करता था तो मैंने शुरुआत में हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए कई लेख लिखे और फिर हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लेखों की चर्चा भी करना शुरू कर दिया. पर आज कल कुछ व्यक्तिगत कार्यों के कारण थोड़ा सा व्यस्त हो गया हूँ, इसी कारण अपने कुछ ऐसे लक्ष्य जो कि मैंने नए ब्लौगरों को प्रोत्साहित करने के लिए सोचे थे वे पूरे नहीं कर पा रहा हूँ. पर अभी एक नयी राह दिखाई दे रही है, और वह है वीकली ब्लॉगर्स मीट. ये आने वाला सोमवार ब्लॉगर्स मीट की तीसरी कड़ी लेकर आएगा, और पिछली दो कड़ियों में मैं चाह कर भी हिस्सा नहीं ले पाया हूँ. अतः मैं चाहता हूँ कि  आगे जो कुछ भी मैं लिख रहा हूँ वो आप ध्यानपूर्वक पढ़ें और मुझे जवाब दें. 

मेरा उद्देश्य - 

हालाँकि शुरू से ही मेरा हिंदी ब्लॉग जगत में नए लोगों को प्रोत्साहित कर उन्हें नयी बुलंदियों तक पहुँचने में मदद करना रहा है और इसी कारण आज मैं हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से जुड़ कर अपने इस उद्देश्य को पूर्ण कर रहा हूँ. पर मैं चाहता हूँ कि आप सभी मुझे मेरे ईमेल पे अपने उन लेखों के लिंक भेजें जो आपके अनुसार बहुत ही ज्यादा श्रेष्ठ हैं चाहे वह कविता हो, कहानी या और कुछ. जहाँ तक मैं समझता हूँ कि हम जब पहली पहली बार ब्लॉग लिखते हैं तो अपनी सबसे श्रेष्ठ रचना को अपने ब्लॉग पे डाल देते हैं पर नए होने व ब्लॉग्गिंग का ज्यादा ज्ञान न होने के कारण हमे हमारी रचना पे ज्यादा प्रोत्साहन भरे कमेन्ट नहीं मिल पाते, जिस कारण हम ब्लॉग्गिंग को अक्सर त्याग देते हैं, इसीलिए मैं चाहते हूँ कि आप अपने ऐसे ही लेख के लिंक मुझे भेजें. मैं उन लेखों की गुणवत्ता को अपने हिसाब से जांच कर एक लेख में अपने ब्लॉग पे प्रचारित करूँगा ताकि आपका लेख ज्यादा से ज्यादा पढ़ा जा सके. 
आप ऐसे लेखों के लिंक भी भेज सकते हैं जिनपे उम्मीद से ज्यादा या कम कमेन्ट मिले हों. आप को जो कमेन्ट बहुत ज्यादा प्रभावित करते हों उन कमेन्ट को भी अपने ईमेल पे हमसे साझा करें. ताकि आपकी लेखनी के बारे में कौन क्या सोचता है यह भी हम पाठकों को बताएँगे. 
शुरुआत में यह कार्य मैं हिंदी ब्लॉगर्स फोरम इंटरनेशनल  के द्वारा आयोजित ब्लॉगर्स मीट वीकली के जरिये करूँगा. और फिर जैसे ही मुझे मेरे व्यक्तिगत कार्यों से फुर्सत मिलेगी मैं अपने ब्लॉग (नवभारत टाइम्स व जागरण ब्लॉग) पे प्रचारित करूँगा. ताकि आपके लेखों को दोबारा पढ़ा जा सके. 
एक बात ध्यान में रखें, नए लेखों की बजाये आप अपने पुराने उम्दा लेख के लिंक भेजें तो बहुत बढ़िया होगा. 

आपके ईमेल मुझे आज ही के आज मिल जाएँ तो बहुत अच्छा होगा. 

अपने लेखों के लिंक के साथ अपना एक छोटा सा परिचय जिसमे अपने नाम, पता (जगह का नाम), ईमेल, व्यवसाय तथा खुद के बारे में आपकी सोच (जो आप दूसरों को बताना चाहें) तथा अपने ब्लॉग का छोटा सा परिचय भेजें... (अगर आपका कोई चित्र हो तो वह भी)
अपने इस कार्य की सूचना मैं बहुत जल्द अपने ब्लॉग पे शामिल करूँगा... ताकि दुनिया को आपके व आपके ब्लॉग के बारे में... 

फिलहाल मैं हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के प्रचार के लिए लिखे गए अपने सारे लेखों की जानकारी आपसे साझा कर रहा हूँ, जिसमे आप पाएंगे - लिंक उन लेखों के जो हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए लिखे गए हैं, और एक संक्षिप्त परिचय उन लेखों के लेखकों का... 
  1. जानें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के मूल विषय, हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की रूप रेखा में... 
  2. हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से - 
    1. अध्याय एक - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_04.html
    2. अध्याय दो - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_06.html
    3. अध्याय तीन - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_09.html
    4. अध्याय चार - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html
    5. अध्याय पाँच - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html
    6. अध्याय छः - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/4.html
    7. अध्याय सात - http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/08/5.html
आप से एक और निवेदन है कि इस पोस्ट के लिंक को आप अपने सभी ब्लॉगर साथियों को फॉरवर्ड कर दें, ताकि वे भी मेरे इस अभियान से जुड़ सकें.  

मुझसे फेसबुक पे जुड़ने के लिए क्लिक करें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के फेसबुक पेज को लाइक कर हमे प्रोत्साहित करें - 

आशा है कि आपको मेरा सन्देश पसंद आया होगा. 

आपके ईमेल के इंतज़ार में... 

- इंजी. महेश बारमाटे "माही"

Thursday, 4 August 2011

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 5)

वो देखो मेरा ख्वाब चला आ रहा है "माही"
के ज़मीन पे पैर अब पड़ते नहीं मेरे... 

आज हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के अन्य लेखों व लेखकों के बारे में चर्चा करने से पहले मैं आपको एक नयी खुशखबरी देना पसंद करूँगा. वैसे खुश खबरी एक नहीं दो - दो हैं, एक हमारी प्यारी हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की तरफ से और दूसरी मेरी तरफ से... 
तो पहले कौन सी सुनाऊं ? 

चलिए हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के बारे में ही खुशखबरी दे देता हूँ सबसे पहले...

तो वह खुशखबर ये है कि हमारी "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड" के फेसबुक पेज के २ अगस्त २०११ को ३० प्रसंशक होने की ख़ुशी में फेसबुक ने हमें एक नया तोहफा दिया है और वो ये कि अब हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड का खुद का एक नया यूज़र नेम मिल गया है, आसान शब्दों में अगर कहूँ तो हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड को एक नया परमानेंट लिंक मिल गया है. मैं इस लिंक को यहाँ साझा कर रहा हूँ...
वैसे शायद ये सूचना आपको मेरे द्वारा फेसबुक पे मिल ही गई होगी. फिर भी ख़ुशी को जितना बांटो उतना ही कम होता है, और ख़ुशी तो बांटने से हमेशा बढ़ती ही जाती है. 

फेसबुक किसी भी पेज को ३० प्रसंशक होने पर ही नया यूज़र नेम प्रदान करता है, कल ही ४ नए प्रसंशक शामिल हुए हैं इसके फैन लिस्ट में... और दिन - प्रतिदिन यह संख्या बढ़ती ही जा रही है. अब बस चाहत है कि यह संख्या ३० से बढ़ कर तीस करोड़ तक पहुंचे... बस इसके लिए आप सभी के प्रयास की जरूरत है... आप सभी से मैं तहे-दिल से अनुरोध करता हूँ कि हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड को बढ़ावा दें और नए हिंदी ब्लॉगर निर्माण में हमारी सहायता करें...  

तो हुई न ये सच में एक खुशखबरी... ?

चलिए अब हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के बारे में चर्चा शुरू की जाए... 

क्या... ?

दूसरी खुशखबरी ?

हा हा हा ! 
व.. वो.. वो मैं... सोच रहा था कि...
तब बताऊँ जब
उसकी पुष्टि पूरी तरह हो जाए...

मेरा मतलब है... कि कुछ दिनों का इंतजार और करें फिर सार्वजानिक रूप से एक नए लेख में मैं अपनी उस खुशखबरी के बारे में आपको बताऊंगा... वो क्या है न... इंतजार का अपना ही मज़ा है... :)

अब शुरू करते हैं चर्चा - "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से" का सातवाँ अध्याय... 

मैंने अपने पिछले लेख में आपको श्री रूपचंद शास्त्री जी, डॉ० अयाज़ अहमद जी, श्री देवेन्द्र गौतम जी के परिचय के साथ उनके लिखे लेखों की जानकारी दी थी. 
मेरा पिछला लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें -

आज मैं आपको डॉ० अनवर जमाल खान जी, सलीम के बारे में तथा उनके हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए योगदान के बारे में जानकारी दूँगा.. 
डॉ० अनवर जमाल खान, ये एक ऐसा नाम है जिससे आज लगभग सारा हिंदी ब्लॉग जगत वाकिफ़ है. और क्यों न हो , आखिर पिछले कई सालों से वे हिंदी ब्लॉग जगत की सेवा करते आ रहे हैं. हिंदी ब्लॉगर्स फोरम इंटरनेशनल के संस्थापक, हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के संकलक तथा ब्लॉगर्स वीकली मीट के आयोजक और न जाने कितने ब्लोगों के मालिक डॉ. अनवर जी के परिचय की व्याख्या करना बहुत ही मुश्किल कार्य है. फिर भी जमाल जी उन व्यक्तिवों में से एक हैं जिन्होंने मुझे प्रभावित किया. यूँ तो मुझे हर कोई प्रभावित कर दे ऐसा कभी होता नहीं, पर ब्लॉग जगत में बहुत कम ही ऐसे नाम हैं जिन्होंने मुझे प्रभावित किया और मैं उनका नाम बताने में ख़ुशी महसूस करूँगा. वे महानुभव व्यक्ति हैं - समीर लाल जी, डॉ. अनवर जमाल जी, इंजी. सत्यम जी, योगेन्द्र पाल जी... 
समीर लाल जी वे पहले व्यक्ति हैं जो अक्सर मेरे ब्लॉग पे मेरी कवितायें पढ़ा करते थे व टिपण्णी भी दे कर मुझे प्रोत्साहित किया करते थे हालाँकि आज कल उनका मेरे ब्लॉग पे आना जाना कम हो गया है, (शायद वे थोड़े व्यस्त होंगे) पर मैं उनका सदा ही आभारी रहूँगा, क्योंकि उनके प्रोत्साहन के बगैर शायद मैं ये लेख न लिखता होता. 
इंजी. सत्यम जी ने मुझे इसीलिए प्रभावित किया क्योंकि उन्होंने इतनी कम आयु में ही बहुत कुछ पाया है ब्लॉग जगत में, उन्होंने मेरे सामने आदर्श प्रस्तुत किया कि कम उम्र में भी बहुत बड़े काम किये जा सकते हैं,  जरूरत है तो बस लगन की.
योगेन्द्र पाल जी, जो कार्य कर रहे हैं उनसे कौन नहीं वाकिफ़ है ? उन्होंने ब्लॉग जगत की सूचना प्रौद्योगिकी को हिंदी में अपने विडियो द्वारा जो समझाया है वह कार्य अद्वितीय है मेरी नज़र में. 
मैं आप सभी के लिए अपने ईश्वर को धन्यवाद देता हूँ क्योंकि उनकी ही बदौलत आज मैं आप जैसे महानुभवों से मिल पाया और ब्लॉग जगत में एक मुकाम पा पाया...
और क्षमा चाहता हूँ उन सभी ब्लॉगर से जिनका नाम मैंने यहाँ उल्लेखित नहीं किया, पर उम्मीद करता हूँ कि बहुत जल्द इस सूची में और भी नाम जुड़ जायेंगे... 

अब अगर आप कहेंगे कि अनवर जमाल जी के व्यक्तित्व से मैंने क्यों प्रभावित हुआ हूँ जबकि वे अक्सर बेवजह   के विवाद में फंसे मिलते हैं तो मैं बस इतना कहना चाहूँगा कि मुझे उनकी बातों में सच्चाई दिखाई देती है, उनके अन्दर धार्मिकता दिखाई देती है. फर्क नहीं पड़ता मुझे कि वे किस धर्म समुदाय से हैं या मैं किस धर्म-समुदाय से हूँ. मैं इतना जनता हूँ कि वे बहुत ही बढ़िया कार्य कर रहे हैं और उनके हर कार्य के संग हर कदम में मैं हूँ... 

(क्षमा चाहूँगा अगर उक्त पंक्तियों ने किसी को भी ठेस पहुंचाई हो पर ये कहना मेरे लिए जरूरी था क्योंकि जो बात सच है उसे कह देने में ही मैं भलाई समझता हूँ.)

चलिए आगे बढ़ा जाए...

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के प्रथम विचारक व संकलक होने के कारण अनवर जी का महत्व इस किताब के लिए और मेरी दृष्टी में भी थोडा ज्यादा ही है. उन्होंने हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए अनेक लेख लिखे हैं, और आगे भी लिखते जा रहे हैं. 
उनके लेखों की सूची यूँ तो बहुत लम्बी है पर वो कुछ इस तरह है - 
  • जब गूगल ने हिंदी सपोर्ट ब्लॉगर.कॉम से निकाल दिया था तब बहुत से ब्लॉगर्स को हिंदी लेखन में बहुत सारी परेशानियां झेलनी पड़ी थी. ऐसे वक्त वे हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए लेकर आये -
  • हिंदी में लिखने का आसान तरीका -
  • ब्लॉग एग्रीगेटरों के लिंक से भरा एक सार्थक लेख- जहाँ आप पूरे विश्व के प्रमुख ब्लॉग एग्रीगेटरों तक पहुँच सकते हैं, ताकि अगर आपका कोई लेख किसी एग्रीगेटर ने ब्लॉक कर दिया हो तो कोई परेशानी न हो... इस लेख को पढ़ने के लिए क्लिक करें. - http://hbfint.blogspot.com/2011/07/hindi-blogging-guide-15.html
और भी बहुत कुछ, पर वो सब मेरे अगले लेख में... 

क्योंकि फिलहाल इतना ही काफी है... 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए हमें आपकी प्रोत्साहन की जरूरत है, कृपया इसे जन जन तक पहुँचाने में हमारी मदद करें... 


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
मेरे अगले लेख में आप पाएंगे - 
  • सीखें ब्लॉग बनाना और उसे सजाना
  • शक व इलज़ाम से बचें नए ब्लॉगर 
  • ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित अच्छी वेबसाइटें 
  • ब्लॉग व ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित और भी जानकारियाँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

चलते चलते मेरे पिछले लेख पे भी नज़र डालें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_04.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय - भाग २
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_06.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से सम्बंधित लेख : मेरी नज़र में (भाग एक)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_09.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 2)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 3)

http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 4)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/4.html


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

अगर आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के हर पल से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमसे संपर्क करें... 
  • हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की हर पल की कहानी अपने ईमेल पे जानने के लिए सबस्क्राइब करें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के गूगल ग्रुप को -
Subscribe to हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड (Hindi Blogging Guide) Google Group 

Email: 

बस अपना ईमेल ऊपर दिए गए स्थान पे डालें और Subscribe बटन पे क्लिक करें...
  • फेसबुक पे हमसे जुड़ें - 

 - महेश बारमाटे "माही"

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


आइये बुद्ध को जानें -