Wednesday, 20 July 2011

क्षमा याचिका

आदरणीय ब्लॉग जगत !

माफ़ी चाहूँगा क्योंकि मैं अभी ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित कोई भी कार्य नहीं कर सकता... हर हफ्ते एक एक्साम है... और इस सिलसिले में हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड व ब्लॉग दुनिया से कोई सम्बन्ध रख नहीं पा रहा हूँ... 

पिछले कुछ एक्साम के रिजल्ट ने मुझे काफी नाराज किया है, जिस कारण अगले एक्साम के लिए ज्यादा मेहनत करना चाहता हूँ...

और अंत में उन सभी ब्लॉगर तथा मेरे परिचित दोस्तों से माफ़ी चाहता हूँ क्योंकि पिछले कुछ दिनों में मैंने उनसे कुछ ऐसे वादे भी किये जिन्हें अभी तक पूरा नहीं कर पाया हूँ... बहुत ही बड़ी दुविधा में फंसा हुआ हूँ, एक तरफ ब्लॉग्गिंग व लेखन से अथाह प्रेम और दूसरी तरफ मेरा करियर... फिलहाल २३ वर्ष की आयु होने के कारण अब घर पे यूँही बैठ के रहा नहीं जाता, मन करता है कि मैं भी कोई काम करूँ... पर प्राइवेट नौकरी न करने का एक प्रमुख कारण भी है और वो कि मैं घर वालों के खिलाफ नहीं जाना चाहता, इसी कारण कुछ दिन, सप्ताह या महीने आप सभी से दूर रहूँगा... और उम्मीद यही है कि जिस दिन भी वापिस लौटूं, एक नयी खुशखबरी के संग ही लौटूं... 


बस आप सभी की दुआ चाहता हूँ कि मेरा कार्य सफल हो और जल्द ही मैं कोई नयी खुशखबरी ब्लॉग जगत को अपनी ओर से दे पाऊं... 

आपका 
 - महेश उर्फ माही

4 comments:

  1. महेश जी,

    मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं, आप जल्द ही अच्छी नौकरी प्राप्त करें ऐसी मैं आशा करता हूँ, मेरी सलाह है की जब तक आपको कोई सरकारी नौकरी प्राप्त नहीं हो जाती कोई प्राइवेट नौकरी कर लें, यकीन मानिए रास्ते खुद बन जायेंगे, मैंने आपको पहले ही आगाह किया था की यह उम्र आपके कैरियर पर ध्यान देने की है ना की ऐसे किसी कार्य में फंसने की जो किसी भी प्रकार से आपको फायदा ना पहुंचाए, यह समय बहुत कीमती है इसको खुद को सफल बनाने में लगायें, सेवा करना अच्छा है पर पहले हमें इस लायक बन जाना चाहिए की हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की सेवा कर पायें बिना अपना कोई नुकसान किये

    ReplyDelete
  2. कोई बात नहीं आप अपने इम्तेहान की तैयारी करें।
    वापस आएंगे तो आपको हम अपने नए कार्यक्रम ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ में शामिल करेंगे।
    ब्लॉगर्स मीट वीकली हरेक सोमवार को हिंदी ब्लॉगर्स फ़ोरम इंटरनेशनल पर आयोजित होने वाला एक समारोह है। शुरूआत आगामी सोमवार से।

    ReplyDelete
  3. Mahesh ji , ham sabki duaye aapke saath hai , jald hi aap wapas aayenge ek baar phir, aur wo bhi pure josh ke saaath hume poora bharosa hai, aap safal honge

    ReplyDelete
  4. Exam to pahli prathmikta honi hi chahiye..kshma kee koi baat hi hai..
    hamari haardik shubhkamnayen aapke saath hai!
    Main bhi badi mushkil se blog ke liye kabhi kabhar samay nikal paati hun.. lekin apne kaam pahle aur baad mein yah sab chalta rahta hai..
    Khoob mehanat se padhna yahi sabkuch baad mein sabse jyada kaam aata hai.... Best of luch!!

    ReplyDelete