Monday, 17 October 2011

कुछ सवाल : आप दीजिये जवाब (Some Questions for All Bloggers)

दिनाँक - 10 सितंबर 2011

ब्लॉग का नाम - हिन्दी ब्लौगर्स फोरम इंटरनेशनल 

विषय - हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड 

कड़ी - 33

उप विषय - साझा ब्लॉग कैसे बनाएँ ?

पोस्ट पाठक संख्या - 13 

टिप्पणी या प्रतिक्रिया - 0 (शून्य)

              और

लेखक - महेश बारमाटे "माही"


जी हाँ !
मैं वही महेश बारमाटे हूँ, जिसे शायद आप लोग "माही" के नाम से जानते हैं, और हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को अगर अनवर जमाल जी के नाम से जाना जाता है, तो कहीं न कहीं मेरा ज़िक्र भी आपके जेहन मे जरूर आता होगा, ऐसा मेरा मानना है। 
आज मैं हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के प्रचार के सिलसिले में खुद को श्रेय दिलवाने के लिए नहीं वरन आप सबसे कुछ  सवाल पूछने आया हूँ।  (बल्कि मेरा विचार ऐसा कभी नहीं रहा कि हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लिए मुझे कोई श्रेय मिले, क्योंकि यह मेरी किताब नहीं है, यह हर ब्लॉगर की किताब है)

मैंने जब हिन्दी ब्लॉगिंग जगत में कदम रखा था तो आपकी ही तरह ब्लॉगिंग के नियमों, लेखन की सीमाओं और तकनीकी ज्ञान से अनभिज्ञ था। मुझे तो बस इतना पता था कि कुछ तो ऐसा किया जाये, जो इतिहास के पन्नों मे न सही पर किसी न किसी के तो दिल को कम से कम एक बार छू जाये। और इसी प्रयास में मैंने अपनी कविताओं से ब्लॉगिंग की शुरुआत की, समय गुजरता गया और काफी कुछ मैं सीखता चला गया। और तब सोचा कि जिस तरह मैं जब नया था तो मुझे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा था तो इस देश में लाखों करोड़ों ऐसे लोग होंगे जो लिखना तो जानते हैं, और अपनी बात लोगों तक पहुंचाना भी चाहते हैं पर ब्लॉगिंग की जानकारी के अभाव में बस खुद तक या अपने दोस्तों तक ही सीमित रह जाते हैं। तो फिर क्यों न ऐसे लोगों को ब्लॉगिंग सिखायी जाये। और इस हेतु मैंने कुछ लेख लिखे जिससे डॉ० अनवर जमाल खान जी सहमत हुये और उन्होने मुझे हिन्दी ब्लॉगिंग के उस ऐतिहासिक कदम का न केवल हिस्सा बनाया बल्कि इस कदम का आगाज करने को भी मुझे ही कहा जिसे आज आप लोग हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के नाम से जानते हैं। 
आज मैं अनवर जी का बहुत आभारी हूँ जो उन्होने मुझे इस मुकाम तक पहुँचने में मदद की जहाँ मैं अपनी सोच को साकार होता देख रहा हूँ। 
पर मैं जानना चाहता हूँ कि 

  • आखिर मेरी ऐसी क्या खता थी, क्या गलती थी जिसकी मुझे सजा मिली ?
  • आखिर क्या कोई नहीं चाहता कि नए ब्लॉगर अपना खुद का साझा ब्लॉग बना सकें? 
  • क्या मेरी पोस्ट में ऐसा कुछ मैंने लिखा था जो "Not For Bloggers" था ?
  • क्यों मेरी पोस्ट को 13 लोगों ने देख के भी अनदेखा कर दिया? 
  • क्या पूरे ब्लॉग जगत मे बस 13 ब्लॉगर ही हैं, जो हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड से संबन्धित लेख पढ़ना पसंद करते है ? 
  • और क्यों बाकी लोगों ने इसे देखना भी न चाहा ?
  • अगर ऐसा था तो आप लोग मेरी पोस्ट पे आए ही क्यों ? कम से कम दिल को तसल्ली तो होती कि जब किसी ने देखा ही नहीं, तो उस पे प्रतिक्रिया मिलना तो उस सोच से भी परे है जिसके पार एक कवि भी नहीं जा सकता। 

आज मैं आप सभी से अपने इन सवालों का जवाब चाहता हूँ कि मेरी पोस्ट को नकारा क्यों गया ?

मैं कोई ऐसा ब्लॉगर भी नहीं हूँ जिसे नकारा जा सके, अगर ऐसा होता तो मेरी कविताओं पे आपकी तालियों की गूंज दिखाई न देती, मेरे लेखों पे, मेरे नए प्रयासों पे आप लोगों की सहमति, आप लोगों की शाबासी भी न मिलती मुझको। 

आज मुझे आपका जवाब चाहिए ही चाहिए... 

क्या ? आप चाहते हैं कि मेरा वो लेख फिर से पढ़ के देखने के बाद ही आप मुझे जवाब देंगे ?
तो फिर ठीक है... 

ये लीजिये लिंक - 


फिर मत कहना कि मैंने लिंक भी नहीं दिया और बहुत कुछ बुरा - भला सुना दिया आप लोगों को... 

नोट - आप सभी से अनुरोध है कि आपके मन में आए जवाब हिन्दी ब्लॉगिंग की गरिमा का ध्यान रखते हुये ही मुझे दें, बेनामी जवाब दे के अपनी पहचान छुपाना एक गरिमामय ब्लॉगर के लक्षण नहीं हैं... 

धन्यवाद ! 


आपके जवाबों के इंतज़ार में... 

- महेश बारमाटे "माही"

Tuesday, 11 October 2011

क्या कहूँ... ?




अचानक ही पता चला कि ऐसा भी कुछ हुआ है, 
के अब वो ही न रहा जिसकी आवाज ने मेरे दिल को हर वक्त छूआ  है... 

जगजीत सिंह जी को बहुत बहुत श्रद्धांजली !

जन्म - 8 फरवरी 1941
मृत्यु - 10 अक्टूबर 2011

- महेश बारमाटे "माही"

Tuesday, 4 October 2011

लड़कियों सावधान: कहीं कोई आपको देख तो नहीं रहा... How to Detect Hidden Camera in Trial Room?


दोस्तों !

आज मुझे किन्ही राजीव जी का एक ईमेल आया, जिसमे बहुत अच्छी जानकारी दी हुई थी, सोचा कि आप सभी लोग भी इसे जाने तो बहुत अच्छा होगा. यह ईमेल इंग्लिश में था जिसे मैं यहाँ अपने हिसाब से अनुवाद कर के पेश कर रहा हूँ. 

यह ईमेल ख़ास तौर पे लड़कियों के लिए है क्योंकि अक्सर जब भी हम कपड़े लेने जाते हैं तो अपनी पसंद की ड्रेस को पहन के देखते हैं कि आखिर जो ड्रेस दिखने में सुन्दर है वो सच में हम पर भी खूबसूरत लगेगी या नहीं और उसका नाप वगैरह ठीक है या नहीं. पर हमारी इसी सोच का गलत फायदा अक्सर दुकान मालिक उठा लेता है और चोरी से आपका विडियो बना लेता है. इसके लिए कुछ उपाय हैं जिन्हें जान लेने के बाद आप जब भी किसी दुकान के ट्रायल रूम में अपने कपड़े बदलने जाएँ तो चौकन्ना रहें और खुद को ऐसे गिरोहों से बचा सकें जो आपका विडियो बना के इन्टरनेट पे न डाल सकें या आपको ब्लैक मेल न कर सकें. 

आखिर जागरूक होना जानकार होने से ज्यादा बेहतर होता है. 

आइये जानते हैं कि - 

ट्रायल रूम में छुपे हुए (hidden) कैमरे का कैसे पता लगाएं ?

ट्रायल रूम (या ड्रेसिंग रूम) में जब भी आप घुसें तो सबसे पहले अपने मोबाइल से एक कॉल लगाने की कोशिश करें, अगर कोई hidden camera उस रूम में होगा तो आपका कॉल नहीं लग पायेगा. ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि जो hidden camera उसे किया जाता है वो fiber optic cable से संचालित होता है जो मोबाइल communication को बाधित करता है.

आज कल एक नए तरह का कैमरा भी उपयोग में लाया जा रहा है जिस का नाम pinhole camera है ये इतने छोटे होते हैं कि कहीं भी आसानी से लगाये जा सकते हैं. 

2-WAY MIRROR : 

एक ऐसा आइना जिसकी एक ओर से आप अपना प्रतिबिम्ब देख सकते हैं और दूसरी ओर से कोई दूसरा आपको देख सकता है.

जी हाँ ! जब भी आप किसी सार्वजनिक प्रसाधन (toilet), स्नान गृह (bathroom), होटल रूम, ड्रेसिंग रूम इत्यादि में जाती हैं तो ये हो सकता है कि जिस आईने के सामने आप कपड़े बदल रही हों उसकी दूसरी ओर से कोई आपको देख रहा हो. पर आप नहीं देख सकती कि कौन है जो आपको देखे रहा है क्योंकि यह आइना कुछ इस तरह का ही बनाया जाता है कि किसी के लिए ये महज एक आइना होता है तो किसी के लिए साधारण कांच. 

अब आप सोच रही होंगी कि आप कैसे जानेंगी कि आपके सामने लगा आइना साधारण आइना है या कुछ और ?

तो इसके लिए भी निश्चिन्त हो जाइये, क्योंकि इसका भी एक उपाय है. 

जब भी आप ऐसे किसी रूम में जाएँ जहां आप कपड़े चेंज करने वाली हों तो पहले आईने की सतह पे अपना नाख़ून रख के देखें, अगर आईने में आपके नाख़ून का प्रतिबिम्ब आपके नाख़ून से थोड़ी सी दूरी पे हो तो वह आइना बिलकुल साधारण है जिसमे कोई खतरा नहीं है. पर अगर आपका नाख़ून और उसका प्रतिबिम्ब एक दूसरे को touch करे तो समझ जाइये कि वह 2 - way mirror है, और कोई आपको देखने के लिए जरूर आईने के पीछे बैठा होगा. 

सतर्क हो जाइये और इस जानकारी को आप अपने दोस्तों, बहनों, बेटी, पत्नी और साथ में उन लड़कों को भी बताएं जिनकी महिला मित्र (गर्ल फ्रेंड) या बहने इत्यादि हों. 


और जानकारी के लिए इस पेज पे जाएँ आपको hidden camera के बारे में और भी कई जानकारियाँ प्राप्त होंगी - 




- महेश बारमाटे "माही"