Tuesday, 21 June 2011

ताकि "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड" इतिहास न बन जाये...

नमस्कार दोस्तों !

आज बड़े लम्बे समयांतराल के बाद मुझे फुरसत मिली. किसी व्यक्तिगत कार्य में व्यस्त होने के कारण आज तक मैंने अपनी ब्लॉग्गिंग को तरसती उँगलियों को न जाने किस तरह रोक के रखा था, ये या तो मैं जानता हूँ या आप (क्योंकि आप भी तो एक ब्लॉगर ही हैं, और ब्लॉगर ही ब्लॉगर का दर्द जान सकता है). वैसे आज मैंने अपनी व्यस्तता से थोड़ा सा समय चुरा ही लिया और आपके समक्ष हाज़िर हो गया. चलिए अब काम की बात की जाये.
पिछले महीने मैंने अपने एक लेख में सभी से आह्वान किया था ताकि सारे ब्लॉगरगण हमारी मदद करें - हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड हेतू और आप सभी के स्नेह से हमें बहुत से लोगों के कमेंट्स व ईमेल मिले जो कि "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड" के लिए अपना योगदान देना चाहते थे. मैं उन सभी ब्लॉगरगण का तहे-दिल से आभारी हूँ कि उन्होंने मेरे एक आह्वान पे दौड़े चले आये और आशा करता हूँ कि इसी तरह मुझे आप सभी का स्नेह व सहयोग मिलता रहेगा.
आज करीब पच्चीस दिन हो गए होंगे मेरे उस लेख को और सभी ब्लॉगरगणों को विषय दे दिए गए थे ताकि वे हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के निर्माण में जल्द से जल्द सहयोग कर के इसके कार्य को अगले चरण तक पहुंचाएं. मुझे उम्मीद है कि लगभग सभी ने अपना कार्य बखूबी पूरा कर लिया होगा, पर जैसा कि मुझे ज्ञात है, अभी तक किसी ने भी अपने कार्य पूर्ण होने का प्रमाण नहीं दिया है.
अब आप लोग ये सोच रहे होंगे कि मैं खुद उन लोगो को नाम से संबोधित करके यह क्यों नहीं पूछ लेता कि हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के सन्दर्भ में उनका कार्य कहाँ तक पहुंचा है ?
तो इसका भी मेरे पास जवाब है कि अभी तक किसी भी ब्लॉगर ने अपने कार्य शुरू करने के बारे में हमें कोई भी जानकारी नहीं दी है और जिन्होंने दी है उनके बारे में मुझे स्पष्ट रूप से कोई जानकारी नहीं है. पर जैसा कि मैंने पहले कहा था कि जैसे ही मुझे सारे ब्लॉगर के नाम मालूम हो जायेंगे मैं उन नामों को सार्वजनिक कर दूंगा. 
अब आप लोगों से फिर एक बार विनती है कि आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के सन्दर्भ में अपने योगदान की जानकारी हमें ईमेल, मोबाइल सन्देश या टिप्पणी के जरिये प्रदान करें. ताकि हिंदी ब्लॉग्गिंग की पहली सम्पूर्ण गाइड का इंतजार बस इंतजार बन के न रह जाये...

आपके जवाब के इंतजार में... 

महेश बारमाटे "माही"

मेरे पिछले लेख जिनमे मैंने हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए सबसे आह्वान किया था उनके लिंक हैं -
http://hbfint.blogspot.com/2011/05/blog-post_5220.html
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/05/blog-post_23.html
http://hbfint.blogspot.com/2011/05/blog-post_5834.html

5 comments:

  1. शायद इससे पहली पोस्ट देख नही पाई थी। आज देखती हूँ कि आप किस तरह की जानकारी चाहते हैं। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. आपकी पहली पोस्‍ट भी पढी और यह पोस्‍ट भी। हिन्‍दी साहित्‍य के क्षेत्र में अनेक सरकारी और गैर सरकारी संस्‍थाएं कार्यरत हैं। ये सभी कार्यक्रम करती हैं और पुरस्‍कार आदि भी प्रदान करती हैं। अकेला साहित्‍य का ही ऐसा क्षेत्र है जहाँ सर्वाधिक पुरस्‍कार दिए जाते हैं। हाँ लेकिन अभी ब्‍लोगिंग के बारे में लोगों की जानकारी कम है। इसका प्रचलन बढ़ाना चाहिए, लेकिन अभी से पुरस्‍कार आदि प्रारम्‍भ नहीं करने चाहिए।

    ReplyDelete
  3. आपकी कोशिश क़ाबिले तारीफ़ है । आपको उन पिछली पोस्ट्स का लिंक भी देना चाहिए जहाँ लोगों ने सहयोग देने के लिए कहा था और फिर इस लेख का लिँक ईमेल के ज़रिये उन्हें भेजना चाहिए ।
    इससे एक तारतम्य बन जाएगा।

    ReplyDelete
  4. आपके इस कदम का स्वागत करता हूँ♥
    बहुत बढ़िया आलेख प्रस्तुत किया है आपने!

    ReplyDelete
  5. @ निर्मला जी और मयंक जी -
    धन्यवाद आप दोनों के सहयोग का...

    @ अजित जी -
    मुझे आपकी बात समझ में ही नहीं आई... कृपया स्पष्ट करें...

    @ अनवर जी -
    क्षमा चाहता हूँ... रात को नींद के आगोश में ये लेख लिखा तो बहुत सी बातें भूल गया...
    पर अब मैंने सब ठीक कर दिया है...

    ReplyDelete