Wednesday, 27 July 2011

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 4)

आह !
कितना सुकून है जब,
कोई काम आपके मन का होता है...
लगता है जैसे
कोई मनचाही कामना पूरी होने लगी हो...!

आज कुछ ऐसे ही जज़्बात मेरे दिल से बयान हो रहे हैं,  आज बहुत दिनों बाद मैं फिर आपके समक्ष हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को लेकर आया हूँ। चूंकि मैंने कहा था कि कुछ वक्त के लिए ब्लॉगिंग से दूर रहूँगा, पर ये आज भी मेरे लिए थोड़ा सा मुश्किल सा है। इसीलिए आज चुपके से आ ही गया हूँ और इसी तरह अब सप्ताह में एक बार आपको हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड की जानकारी देने की कोशिश करूंगा।
दोस्तों ! पिछली बार मैंने आपको शलिनी जी व शिखा जी के परिचय के साथ उनके लेख ब्लॉगिंग के फायदे व नुकसान की जानकारी दी थी। आज मैं सबसे पहले श्री रूपचंद शास्त्री 'मयंक' जी के लेख "हिन्दी ब्लॉगिंग के उसूल" के बारे मे बताना चाहूँगा।
वैसे तो श्री रूपचंद शास्त्री 'मयंक' जी को आज ब्लॉग जगत मे कौन नहीं जानता ? 

सोच रहा हूँ कि उनकी तारीफ मे दो शब्द लिखूँ तो कैसे लिखूँ,
के जिसकी तारीफ खुद तारीफ करती हो, उसकी क्या तारीफ करूँ ?

उनका परिचय देना मेरे लिए थोड़ा मुश्किल ही है क्योंकि डरता हूँ कहीं कोई भूलचूक न हो जाये। पर उनका परिचय हमारे हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के संकलक श्री अनवर जमाल खान जी ने बखूबी दिया है जिसे आप यहाँ पढ़ सकते हैं...

यूँ तो ब्लॉगिंग एक स्वरचना ही है, बिलकुल आपकी डायरी की तरह। आपका तो पता नहीं पर मैं तो अपनी डायरी में अपनी मुताबिक ही लिखता हूँ, बिना किसी बंदिश के, बिना किसी कायदे - कानून के, पर ब्लॉगिंग मे अगर कुछ कड़े कायदे कानून हम न अपनाएं तो शायद ये ब्लॉग जगत भी हमे अपनाने से इंकार कर देगा। वैसे आज कोई कड़े कायदे कानून के दायरे में रह कर लिखना पसंद नहीं करता, पर शास्त्री जी के द्वारा बताए गए ब्लॉगिंग के उसूल (कायदे - कानून) पढ़ने के बाद आप जरूर उन पर अमल करना शुरू कर ही देंगे। बहुत उम्दा तरीके से उन्होने अपने लेख मे समझाने की कोशिश की है। आपको जरूर पसंद आएगी। और एक बात और कहना चाहूँगा मैं कि अनवर जी ने जो कुछ भी शास्त्री जी के परिचय मे अपने लेख मे लिखा वो मेरी नज़र मे भी सच लगता है, उनके बताए गए उसूलों को पढ़ने के बाद वे सच में मुझे  ‘च्यवन ऋषि‘ के सच्चे वारिस  ही लगे।  उनका लेख पढ़ने के लिए थोड़ा सा इंतज़ार करें। मैं सारे लिंक अंत में ही देना चाहूँगा क्योंकि अभी मेरी बात खत्म नहीं हुई है...

अब चलते हैं हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के अगले लेख की ओर, जिसे लिखा है श्री देवेन्द्र जी ने।
देवेंद्र गौतम जी, रांची, झारखंड के रहने वाले हैं, वे ब्लॉगिंग की दुनिया मे फरवरी 2010 से अपना सिक्का जमाये बैठे हैं। पर वे साहित्य के क्षेत्र मे इतने भी नए नहीं है। वे पिछले 30 वर्षों से साहित्य की उपासना कर रहे हैं। और उनकी उपासना के एक चरण का नाम है - हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड... 

इसी साधना के चलते उन्होने हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को अपने कुछ लेखों से संवारा है। 

  1. जीमेल अकाउंट बनाने का तरीका - अपने इस लेख में उन्होने बहुत ही सरल तरीके से जीमेल मे अकाउंट बनाने का तरीका सुझाया है। इस छोटे से लेख में उन्होंने सारी बातें बड़ी सरलता से बता दीं हैं ...
  2. नए ब्लॉगर की समस्याएँ - यह लेख यूं तो अपनी दृष्टि से महत्वपूर्ण है ही पर इसे जब देवेन्द्र जी ने अपने जीवन की घटनाओं से जोड़ते हुये लिखा तो लगा कि शायद ऐसी समस्याएँ मेरे, आपके तथा हर एक नए ब्लॉगर के जीवन मे आ चुकी होंगी। सच मे उनकी लेखनी का जवाब नहीं। 
अब जब जीमेल पे अकाउंट बना ही लिया तो क्यों न पासवर्ड सुरक्षा की बात भी हो जाये ?
जी हाँ ! मेरे चर्चा के विषय मे आज डॉ0 अयाज़ अहमद जी तथा उनका लेख "पासवर्ड सुरक्षा के लिए सावधानियाँ" भी हैं।
डॉ0 अयाज़ अहमद जी पेशे से चिकित्सक हैं, पर वे साथ ही साथ एक बहुत ही अच्छे साहित्यकार व ब्लॉगर भी हैं। वे दिसंबर 2009 मे ब्लॉग जगत मे आए और अप्रेल 2010 से उन्होने ब्लॉगिंग की शुरुआत की। अपने ब्लॉग सोने पे सुहागा मे वे अक्सर इस देश की आवाम को चिकित्सीय सलाह देते नज़र आते हैं, पर हिन्दी  ब्लॉगिंग गाइड के लिए उन्होने जो लेख लिखा उससे उनके तकनीकी ज्ञान का भी पता चलता है कि वे न सिर्फ चिकित्सा मे अपना योगदान दे रहे हैं अपितु सभी को इंसानियत की खातिर बहुत सारी विधाओं से संबन्धित बढ़िया सलाह भी दे रहे हैं। उन्होने अपने लेख मे बताया कि किस तरह आज हैकर्स इस आभासी दुनिया मे चूहे की भांति चोरी छिपे बढ़ रहे हैं और आपके जरूरी ईमेल, ब्लॉग पोस्ट इत्यादि पे हमला कर रहे हैं ।  उनकी पासवर्ड सुरक्षा से संबन्धित सलाह सच मे बहूत ही उल्लेखनीय प्रयास है, आज के इंसान को जागरूक करने हेतु। 

चलिये अब काम की बात हो जाये - मेरे मतलब है कि सारे लिंक आपको बता दिये जाएँ ताकि आपका इंतज़ार खत्म हो सके.... 
पासवर्ड सुरक्षा से संबन्धित एक लेख मैंने भी हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लिए लिखा था, कृपया उस पे भी नज़र दौडायें... 

       अंत में मैं बस इतना ही कहना चाहूँगा कि अगर मैंने इन महानुभाव लेखकों के बारे में कुछ भी गलत लिखा हो तो मुझे क्षमा करें, क्योंकि मैंने अब तक आप लोगों को जितना जाना है वही यहाँ लिखा हूँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

मेरे अगले लेख में आप पाएंगे - 
  • सीखें ब्लॉग बनाना और उसे सजाना
  • शक व इलज़ाम से बचें नए ब्लॉगर 
  • ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित अच्छी वेबसाइटें 
  • ब्लॉग व ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित और भी जानकारियाँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

चलते चलते मेरे पिछले लेख पे भी नज़र डालें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय - भाग २


हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से सम्बंधित लेख : मेरी नज़र में (भाग एक)

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग २)

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 3)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html  


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
अगर आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के हर पल से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमसे संपर्क करें... 
  • हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की हर पल की कहानी अपने ईमेल पे जानने के लिए सबस्क्राइब करें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के गूगल ग्रुप को -
Subscribe to हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड (Hindi Blogging Guide) Google Group 

Email: 

बस अपना ईमेल ऊपर दिए गए स्थान पे डालें और Subscribe बटन पे क्लिक करें...
  • फेसबुक पे हमसे जुड़ें - 

 - महेश बारमाटे "माही"

कुछ अच्छी किताबें - 

3 comments:

  1. आपने बहुत अच्छी चर्चा की है । एक सच्चा ब्लॉगर ब्लॉगिंग से दूर नहीं रह पाता है ।

    ReplyDelete
  2. आपने बहुत अच्छी चर्चा की है । एक सच्चा ब्लॉगर ब्लॉगिंग से दूर नहीं रह पाता है ।
    bahut kub , muje to aacha laga may entajar karugi aap ke lek ka
    dheyavad
    vidya

    ReplyDelete