Thursday, 4 August 2011

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 5)

वो देखो मेरा ख्वाब चला आ रहा है "माही"
के ज़मीन पे पैर अब पड़ते नहीं मेरे... 

आज हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के अन्य लेखों व लेखकों के बारे में चर्चा करने से पहले मैं आपको एक नयी खुशखबरी देना पसंद करूँगा. वैसे खुश खबरी एक नहीं दो - दो हैं, एक हमारी प्यारी हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की तरफ से और दूसरी मेरी तरफ से... 
तो पहले कौन सी सुनाऊं ? 

चलिए हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के बारे में ही खुशखबरी दे देता हूँ सबसे पहले...

तो वह खुशखबर ये है कि हमारी "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड" के फेसबुक पेज के २ अगस्त २०११ को ३० प्रसंशक होने की ख़ुशी में फेसबुक ने हमें एक नया तोहफा दिया है और वो ये कि अब हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड का खुद का एक नया यूज़र नेम मिल गया है, आसान शब्दों में अगर कहूँ तो हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड को एक नया परमानेंट लिंक मिल गया है. मैं इस लिंक को यहाँ साझा कर रहा हूँ...
वैसे शायद ये सूचना आपको मेरे द्वारा फेसबुक पे मिल ही गई होगी. फिर भी ख़ुशी को जितना बांटो उतना ही कम होता है, और ख़ुशी तो बांटने से हमेशा बढ़ती ही जाती है. 

फेसबुक किसी भी पेज को ३० प्रसंशक होने पर ही नया यूज़र नेम प्रदान करता है, कल ही ४ नए प्रसंशक शामिल हुए हैं इसके फैन लिस्ट में... और दिन - प्रतिदिन यह संख्या बढ़ती ही जा रही है. अब बस चाहत है कि यह संख्या ३० से बढ़ कर तीस करोड़ तक पहुंचे... बस इसके लिए आप सभी के प्रयास की जरूरत है... आप सभी से मैं तहे-दिल से अनुरोध करता हूँ कि हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड को बढ़ावा दें और नए हिंदी ब्लॉगर निर्माण में हमारी सहायता करें...  

तो हुई न ये सच में एक खुशखबरी... ?

चलिए अब हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के बारे में चर्चा शुरू की जाए... 

क्या... ?

दूसरी खुशखबरी ?

हा हा हा ! 
व.. वो.. वो मैं... सोच रहा था कि...
तब बताऊँ जब
उसकी पुष्टि पूरी तरह हो जाए...

मेरा मतलब है... कि कुछ दिनों का इंतजार और करें फिर सार्वजानिक रूप से एक नए लेख में मैं अपनी उस खुशखबरी के बारे में आपको बताऊंगा... वो क्या है न... इंतजार का अपना ही मज़ा है... :)

अब शुरू करते हैं चर्चा - "हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से" का सातवाँ अध्याय... 

मैंने अपने पिछले लेख में आपको श्री रूपचंद शास्त्री जी, डॉ० अयाज़ अहमद जी, श्री देवेन्द्र गौतम जी के परिचय के साथ उनके लिखे लेखों की जानकारी दी थी. 
मेरा पिछला लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें -

आज मैं आपको डॉ० अनवर जमाल खान जी, सलीम के बारे में तथा उनके हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए योगदान के बारे में जानकारी दूँगा.. 
डॉ० अनवर जमाल खान, ये एक ऐसा नाम है जिससे आज लगभग सारा हिंदी ब्लॉग जगत वाकिफ़ है. और क्यों न हो , आखिर पिछले कई सालों से वे हिंदी ब्लॉग जगत की सेवा करते आ रहे हैं. हिंदी ब्लॉगर्स फोरम इंटरनेशनल के संस्थापक, हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के संकलक तथा ब्लॉगर्स वीकली मीट के आयोजक और न जाने कितने ब्लोगों के मालिक डॉ. अनवर जी के परिचय की व्याख्या करना बहुत ही मुश्किल कार्य है. फिर भी जमाल जी उन व्यक्तिवों में से एक हैं जिन्होंने मुझे प्रभावित किया. यूँ तो मुझे हर कोई प्रभावित कर दे ऐसा कभी होता नहीं, पर ब्लॉग जगत में बहुत कम ही ऐसे नाम हैं जिन्होंने मुझे प्रभावित किया और मैं उनका नाम बताने में ख़ुशी महसूस करूँगा. वे महानुभव व्यक्ति हैं - समीर लाल जी, डॉ. अनवर जमाल जी, इंजी. सत्यम जी, योगेन्द्र पाल जी... 
समीर लाल जी वे पहले व्यक्ति हैं जो अक्सर मेरे ब्लॉग पे मेरी कवितायें पढ़ा करते थे व टिपण्णी भी दे कर मुझे प्रोत्साहित किया करते थे हालाँकि आज कल उनका मेरे ब्लॉग पे आना जाना कम हो गया है, (शायद वे थोड़े व्यस्त होंगे) पर मैं उनका सदा ही आभारी रहूँगा, क्योंकि उनके प्रोत्साहन के बगैर शायद मैं ये लेख न लिखता होता. 
इंजी. सत्यम जी ने मुझे इसीलिए प्रभावित किया क्योंकि उन्होंने इतनी कम आयु में ही बहुत कुछ पाया है ब्लॉग जगत में, उन्होंने मेरे सामने आदर्श प्रस्तुत किया कि कम उम्र में भी बहुत बड़े काम किये जा सकते हैं,  जरूरत है तो बस लगन की.
योगेन्द्र पाल जी, जो कार्य कर रहे हैं उनसे कौन नहीं वाकिफ़ है ? उन्होंने ब्लॉग जगत की सूचना प्रौद्योगिकी को हिंदी में अपने विडियो द्वारा जो समझाया है वह कार्य अद्वितीय है मेरी नज़र में. 
मैं आप सभी के लिए अपने ईश्वर को धन्यवाद देता हूँ क्योंकि उनकी ही बदौलत आज मैं आप जैसे महानुभवों से मिल पाया और ब्लॉग जगत में एक मुकाम पा पाया...
और क्षमा चाहता हूँ उन सभी ब्लॉगर से जिनका नाम मैंने यहाँ उल्लेखित नहीं किया, पर उम्मीद करता हूँ कि बहुत जल्द इस सूची में और भी नाम जुड़ जायेंगे... 

अब अगर आप कहेंगे कि अनवर जमाल जी के व्यक्तित्व से मैंने क्यों प्रभावित हुआ हूँ जबकि वे अक्सर बेवजह   के विवाद में फंसे मिलते हैं तो मैं बस इतना कहना चाहूँगा कि मुझे उनकी बातों में सच्चाई दिखाई देती है, उनके अन्दर धार्मिकता दिखाई देती है. फर्क नहीं पड़ता मुझे कि वे किस धर्म समुदाय से हैं या मैं किस धर्म-समुदाय से हूँ. मैं इतना जनता हूँ कि वे बहुत ही बढ़िया कार्य कर रहे हैं और उनके हर कार्य के संग हर कदम में मैं हूँ... 

(क्षमा चाहूँगा अगर उक्त पंक्तियों ने किसी को भी ठेस पहुंचाई हो पर ये कहना मेरे लिए जरूरी था क्योंकि जो बात सच है उसे कह देने में ही मैं भलाई समझता हूँ.)

चलिए आगे बढ़ा जाए...

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के प्रथम विचारक व संकलक होने के कारण अनवर जी का महत्व इस किताब के लिए और मेरी दृष्टी में भी थोडा ज्यादा ही है. उन्होंने हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए अनेक लेख लिखे हैं, और आगे भी लिखते जा रहे हैं. 
उनके लेखों की सूची यूँ तो बहुत लम्बी है पर वो कुछ इस तरह है - 
  • जब गूगल ने हिंदी सपोर्ट ब्लॉगर.कॉम से निकाल दिया था तब बहुत से ब्लॉगर्स को हिंदी लेखन में बहुत सारी परेशानियां झेलनी पड़ी थी. ऐसे वक्त वे हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए लेकर आये -
  • हिंदी में लिखने का आसान तरीका -
  • ब्लॉग एग्रीगेटरों के लिंक से भरा एक सार्थक लेख- जहाँ आप पूरे विश्व के प्रमुख ब्लॉग एग्रीगेटरों तक पहुँच सकते हैं, ताकि अगर आपका कोई लेख किसी एग्रीगेटर ने ब्लॉक कर दिया हो तो कोई परेशानी न हो... इस लेख को पढ़ने के लिए क्लिक करें. - http://hbfint.blogspot.com/2011/07/hindi-blogging-guide-15.html
और भी बहुत कुछ, पर वो सब मेरे अगले लेख में... 

क्योंकि फिलहाल इतना ही काफी है... 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए हमें आपकी प्रोत्साहन की जरूरत है, कृपया इसे जन जन तक पहुँचाने में हमारी मदद करें... 


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
मेरे अगले लेख में आप पाएंगे - 
  • सीखें ब्लॉग बनाना और उसे सजाना
  • शक व इलज़ाम से बचें नए ब्लॉगर 
  • ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित अच्छी वेबसाइटें 
  • ब्लॉग व ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित और भी जानकारियाँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

चलते चलते मेरे पिछले लेख पे भी नज़र डालें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_04.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय - भाग २
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_06.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से सम्बंधित लेख : मेरी नज़र में (भाग एक)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_09.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 2)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 3)

http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 4)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/4.html


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

अगर आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के हर पल से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमसे संपर्क करें... 
  • हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की हर पल की कहानी अपने ईमेल पे जानने के लिए सबस्क्राइब करें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के गूगल ग्रुप को -
Subscribe to हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड (Hindi Blogging Guide) Google Group 

Email: 

बस अपना ईमेल ऊपर दिए गए स्थान पे डालें और Subscribe बटन पे क्लिक करें...
  • फेसबुक पे हमसे जुड़ें - 

 - महेश बारमाटे "माही"

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


आइये बुद्ध को जानें - 


8 comments:

  1. वाकई इधर यात्रायें और व्यस्ततायें बढ़ी हैं...जल्द ही पुनः नियमित हो जायेंगे ऐसा लगता है. शुभकामनाएँ...

    ReplyDelete
  2. pahli baar aapke blog pe aana hua..accha laga...blogs ke bishay mein mein shandar jaankari di...aapki saflataon ke liye hardik dhnyawad..apne blog per amantran ke sath

    ReplyDelete
  3. प्रिय भाई महेश जी , अच्छा लगा कि आपको प्रभावित करने वाले चार सज्जनों में एक नाम हमारा भी है लेकिन हक़ीक़त यह है कि हम तो ख़ुद ही आपसे प्रभावित हैं। आप एक नौजवान हैं और ब्लॉग जगत में आए हुए आपको समय भी कम ही हुआ है लेकिन फिर भी आपने बहुत सी साइट्स पर ‘हिंदी ब्लॉगिंग गाइड‘ की जानकारी देकर लोगों के लिए हिंदी ब्लॉगिंग से जुड़ना आसान कर दिया है। आपको हमसे जो प्यार है उसमें हमारी क़ाबिलियत को तो दख़ल ज़रा कम है और आपकी साफ़दिली को ज़्यादा।
    फ़ेसबुक द्वारा दिया गया नया पता अच्छा लगा। यह सब मालिक का करम है और आपकी मेहनत का नतीजा।
    मुबारक हो बहुत बहुत !!!

    इस ख़बर को ‘ब्लॉग की ख़बरें‘ पर भी दें और ‘हिंदी ब्ला. फ़ो. इं.‘ पर भी इस लेख का कुछ हिस्सा अवश्य दें।

    विवाद हमारे पीछे कुछ तो लगा दिए जाते हैं और कुछ हम ख़ुद ही मोल ले लेते हैं ‘टिप्पणी माफ़ियाओं की मुख़ालिफ़त करके‘। ये लोग परोक्ष-अपरोक्ष रूप से हिंदी ब्लॉगर्स को टिप्पणियां न देने की नीति पर चलकर उनका उत्साह भंग कर देते हैं जबकि किसी ब्लॉगर के बारे में लिखे हुए अपने लेख पर सौ-पचास कमेंट ले जाते हैं। ऐसे में गुणी ब्लॉगर यही सोचता है कि आखि़र यह राज़ है क्या ?
    इस राज़ से पर्दा हमने उठाया है, आप भी देखिए-
    टिप्पणी के लेन-देन के पीछे छिपी हक़ीक़त को बेनक़ाब होता हुआ देखने के लिए हमने एक कहानी लिखी है
    आप क्या जानते हैं हिंदी ब्लॉगिंग की मेंढक शैली के बारे में ? Frogs online

    ReplyDelete
  4. @Udan Tashtari

    समीर जी, आप आज फिर आए मेरी महफिल मे यही मेरे लिए बहुत है...
    उम्मीद है आप बहुत जल्द नियमित हो ही जाएँगे...

    आपका बहुत बहुत शुक्रिया ! :)

    ReplyDelete
  5. @Dr.Ashutosh Mishra "Ashu"

    आशुतोष जी!
    आपका ब्लॉग देखा, पता चला आप ब्लॉग जगत मे नए हैं, आप से निवेदन है कि आप अपना ईमेल हमें प्रदान करें और उन सभी का ईमेल जिनहे आप ब्लॉग जगत मे नया समझते हैं, ताकि हम अपनी तरफ से आपकी हर संभव कोशिश कर सकें...

    हमारे प्रोत्साहन के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

    पर आपके प्रोत्साहन को हम तब सार्थक मानेंगे जब आप भी हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को फेसबुक पे समर्थन देंगे...

    धन्यवाद॥ :)

    ReplyDelete
  6. bahut hi achhi koshish hai...aabhaar....


    http://teri-galatfahmi.blogspot.com/

    ReplyDelete
  7. वाकई बहुत अच्छी जानकारी है यहां

    ReplyDelete
  8. मुझे तो वाकई आपकी मदद की जरूरत है, मैं तो यहां बिल्कुल नया हूं

    ReplyDelete