Monday, 19 September 2011

हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 7) (Hindi Blogging Guide - part 7)

नमस्कार दोस्तों !


कैसे हो आप सभी ? आशा है कि आप सभी सकुशल होंगे।

आज बहुत दिनों बाद फुर्सत है मिली, क्या करूँ, नयी नयी नौकरी मे फुर्सत ही कहाँ ? 
फिर भी ब्लॉगिंग की ललक और आप सभी का प्यार खींच लाया है मुझे एक बार फिर यहाँ। 

इसीलिए...
लो आज फिर आ गया मैं हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड की जानकारियाँ लेकर, पर सबसे पहले एक बात आपको बताना चाहूँगा। यह केवल एक बात एक सूचना या एक जानकारी ही नहीं बल्कि एक अनुरोध भी है। अतः कृपया आप सभी ध्यान से पढ़ें और अगर मैं कहीं गलती कर रहा हूँ तो मुझे मेरी गलती बताने का कष्ट करें। 

तो बात यह है कि - 
कुछ समय पहले मैंने फेसबुक पे "हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड" के अधिकृत ग्रुप पे सारे के सारे माननीय व गणमान्य सदस्यों से एक अनुरोध किया था कि 
"यह ग्रुप हिन्दी, हिन्दी ब्लॉगिंग व हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है, ताकि लोग हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के जरिये हिन्दी ब्लॉगिंग के सारे गुर सीख सकें और नए ब्लॉगर स्वयं तैयार हो सकें। 
अगर आपके पास ऐसी कोई जानकारी या लिंक हो जो हिन्दी ब्लॉगिंग या हिन्दी को इंटरनेट पे बढ़ावा दे तो आप जरूर उसे इस ग्रुप पे साझा कर सकते हैं, बजाए इसके कि आप अपने निजी लेख, कविता इत्यादि की जानकारी (या लिंक) साझा करें। 
हमने यह ग्रुप जिस उद्देश्य से बनाया था आज इस ग्रुप की सामग्री को देखने पर प्रदशित ही नहीं होता। 
और ऐसा करने वाले बहुत से वरिष्ठ ब्लॉगर ही हैं जो ग्रुप के उद्देश्य को धूमिल कर रहे हैं।
अतः आप सभी से अनुरोध है कि इस ग्रुप मे कोई भी निजी सूचना, लिंक इत्यादि (अगर वो हिन्दी ब्लॉगिंग, हिन्दी या हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड से संबन्धित न हो तो) साझा न करें। धन्यवाद !"

इस सूचना (अनुरोध) की मूल प्रति आप इस लिंक से देख सकते हैं - 


अब जब मैंने यह सूचना (हालांकि यह मूल सूचना का प्रमुख अंशमात्र है) फेसबुक ग्रुप मे प्रेषित की तो कुछ ब्लॉगर ने खुद को इस ग्रुप से ही अलग कर दिया और कुछ ऐसे भी हैं जिनके कान मे अभी तक कोई जूँ तक न रेंगी। अब आप ही कहें कि मैं क्या करूँ ? समय के अभाव के कारण मैं रोज रोज सब के निजी लिंक तो डिलीट नहीं कर सकता तो आप सभी को इस बारे में स्वयं सोचना होगा कि क्या हम ऐसे लोगों के नाम उजागर करें जो लोग अब भी हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड असल उद्देश्य समझ न पाये हैं और उनको इस ग्रुप से बेदखल कर दूँ या कोई अन्य रास्ता सोचूँ ? 

हम किसी भी ब्लॉगर का नाम उजागर कर किसी भी ब्लॉगर को हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड से दूर नहीं करना चाहते क्योंकि हम आप सभी की प्रतिभा का सम्मान करते हैं इसीलिए हम किसी भी ब्लॉगर को हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के फेसबुक ग्रुप से दूर नहीं कर सकते और एक और बात बताना चाहते हैं कि हमारे पास कोई अन्य रास्ता नहीं है क्योंकि फेसबुक ने अभी तक ऐसे अधिकार हमें नहीं दिये हैं कि हम इस ग्रुप में सिर्फ administrator ही सारे लिंक व पोस्ट साझा कर सके। अगर आपके पास कोई अन्य रास्ता है तो जरूर बताएं क्योंकि यह केवल मेरा या हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड लिखने वाले लेखक समूह का ग्रुप नहीं है, यह आप सभी का ग्रुप है और इसका उद्देश्य केवल हिन्दी, हिन्दी ब्लॉगिंग व हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड को बढ़ावा देना है, ताकि जो भी नया ब्लॉगर हो वो अपनी सारी समस्याएँ व उनका समाधान एक ही जगह पे पा सके और नित प्रतिदिन हिन्दी ब्लॉगिंग से संबन्धित नई जानकारियाँ प्राप्त कर सके। 

हम नए ब्लॉगर बनाने आए हैं न कि खुद का व खुद के ब्लॉग का विज्ञापन करने... 

इसी विचार के साथ अपना ये लेख यहीं खत्म करता हूँ। आशा है कि आप सभी मेरा साथ जरूर देंगे। मेरी किसी भी बात का अगर आपको बुरा लगा हो तो क्षमा करें!

धन्यवाद !

- इंजी० महेश बारमाटे "माही"

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
नोट - आज बस इतना ही मेरे अगले लेखों में आप हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के लेखों की जानकारी ही पाएंगे। 
हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के लिए हमें आपकी प्रोत्साहन की जरूरत है, कृपया इसे जन जन तक पहुँचाने में हमारी मदद करें... 

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
मेरे अगले लेख में आप पाएंगे - 
  • ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित अच्छी वेबसाइटें 
  • ब्लॉग एग्रीगेटर 
  • ब्लॉग व ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित और भी जानकारियाँ... 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

चलते चलते मेरे पिछले लेख पे भी नज़र डालें - 

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_04.html


हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : एक नया अध्याय - भाग २
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_06.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड से सम्बंधित लेख : मेरी नज़र में (भाग एक)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_09.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 2)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 3)

http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/3.html

हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 4)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/07/4.html


हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 5)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/08/5.html


हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड : मेरी नज़र से (भाग 6)
http://meri-mahfil.blogspot.com/2011/08/6.html



----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

अगर आप हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के हर पल से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमसे संपर्क करें... 
  • हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड की हर पल की कहानी अपने ईमेल पे जानने के लिए सबस्क्राइब करें हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड के गूगल ग्रुप को -
Subscribe to हिंदी ब्लॉग्गिंग गाइड (Hindi Blogging Guide) Google Group 

Email: 

बस अपना ईमेल ऊपर दिए गए स्थान पे डालें और Subscribe बटन पे क्लिक करें...
  • फेसबुक पे हमसे जुड़ें - 


ईं० महेश बारमाटे "माही"

7 comments:

  1. लोग बेकार की बातों में ज़्यादा वक्त लगाते हैं और काम की बातों में कम.
    ऐसा अक्सर देखा गया है.
    ब्लॉग जगत में भी यही देखने में आ रहा है.
    आप इन वक्त गंवाने वालों की वजह से मायूस होकर अपना काम छोड़ मत बैठना.
    यही आपकी कामयाबी होगी.

    ReplyDelete
  2. आपकी कोशिशें क़ाबिले तारीफ़ हैं। डा. अयाज़ साहब से सहमत।
    आप अपनी पोस्ट का लिंक प्रेरणा जी को ज़रूर भेज दीजिए ताकि इसे ब्लॉगर्स मीट वीकली में शामिल किया जा सके।

    शुक्रिया !


    http://hbfint.blogspot.com/2011/09/9-against-female-feticide.html

    ReplyDelete
  3. डॉ अयाज़ जी : अगर ऐसे लोगों के कार्यों से मेरा उद्देश्य थम गया होता तो आपको हिन्दी ब्लॉगिंग गाइड के इस लेख की जगह मेरा त्याग पत्र दिखाई देता।
    मुझे यकीन है कि इस लेख को उन नासमझ ब्लॉगरों ने भी पढ़ा होगा जो मेरी बात नहीं मान रहे हैं... ये तो एक आगाज है, आगे जा के उनको अंजाम भी दिखाई देगा।

    आपके प्रोत्साहन का शुक्रिया :)

    ReplyDelete
  4. अनवर जी : अयाज़ जी से मैं भी सहमत हूँ। और प्रेरणा जी को इस पोस्ट का लिंक भेज रहा हूँ...

    ReplyDelete
  5. सबकी अपनी सोच है....सकारात्मक लिखिये तो सब अच्छा है....ऐसा करो वैसा करो से कुछ नहीं होगा...आप खुद अच्छा लिख कर प्रतिमान स्थापित करें ...सब पॉलो करेंगे ...किसी ग्रुप की जरुरत नहीं....

    ReplyDelete
  6. सच में आप से बहुत नई नई जानकारी मिलती है।मेरा हाथ तो इस मामले में काफी तंग है।

    ReplyDelete
  7. धन्यवाद समीर जी... आपके मार्गदर्शन को हमेशा याद रखूँगा... :)

    और महेंद्र जी : मैंने ऐसा क्या किया है ? बस वही जो दिल ने कहा है ?
    आप खुद को कभी कम न समझें... आप मुझसे ज्यादा अनुभवी हैं। आप बहुत कुछ कर सकते हैं...

    आपके प्रोत्साहन के लिए शुक्रिया :))

    ReplyDelete